ब्रेकिंग न्यूज़

जल्द शुरू होगा गुरुग्राम-रेवाड़ी फोरलेन का निर्माण, 5 फ्लाईओवर के साथ पटौदी बायपास व टोल से गुजरेगा, साथ ही बड़े स्तर पर होगी तोड़फोड़

धीरज शर्मा: गुरुग्राम से रेवाड़ी फोरलेन हाइवे की परिकल्पना अब जल्द साकार होने की उम्मीद नजर आ रही है। करीब 1500 करोड़ रुपए खर्च कर यह फोरलेन बनाया जाएगा और टोल देकर वाहन चालक गुरुग्राम से रेवाड़ी या रेवाड़ी से गुरुग्राम तक मात्र चालीस मिनट में अपना सफर पूरा कर सकेंगे। माना जा रहा है की एक-दो सफ्ताह में निर्माण कार्य शुरू होने जा रहा है जिसके बनने से 49 किमी का सफर महज चालीस मिनट में पूरा होगा।

रेवाड़ी से गुरुग्राम फोरलेन को लेकर लंबे समय से वादे एवं दावे किए जा रहे हैं। शिलान्यास हुए भी काफी समय हो गया, लेकिन निर्माण कार्य की शुरूआत नहीं हो पाई हालांकि अब योजना के साकार होने की उम्मीद नजर आने लगी है। इस योजना का 14 जुलाई 2020 को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने ऑनलाइन शिलान्यास किया था जो 2 साल में योजना पूरी होनी थी, लेकिन इसके काम की शुरूआत में देरी होने से अभी तक काम शुरू नहीं हुआ जो अब जल्द ही निर्माण शुरू होने की उम्मीद जताई जा रही है। 

DPR के अनुसार गुरुग्राम से शुरू होकर हाइवे रेवाड़ी के NH 71 पर मिलेगा। इसके लिए NH 71 नए हाइवे पर जाने के लिए इंटरचेंज बनाया जाएगा। इस फोरलेन पर पांच फ्लाईओवर होंगे। पटौदी रोड उमंग भारद्वाज चौक, गाड़ौली, हरसरू, जमालपुर और पटौदी बाईपास पर फ्लाईओवर बनेंगे। वहीं उमंग भारद्वाज चौक पर एक अंडरपास भी बनाया जाएगा। इसके अलावा रेलवे ओवरब्रिज सहित 13 छोटे पुल भी बनाए जाएंगे। इस रोड से लगते अन्य रास्तों को मिलाने के लिए सात इंटरचेंज बनाए जाएंगे। 

DRP में उमंग भारद्वाज चौक, गाड़ौली, एनपीआर को शहर से जोडऩे वाली जगह, फरुखनगर रोड, फाजलवास-जमालपुर रोड, रेलवे यार्ड एवं सात किमी लंबा पटौदी बाईपास भी शामिल हैं। इस हाइवे के लिए रेवाड़ी-पटौदी रोड को चौड़ा किया जाएगा। एनएच 352 डब्ल्यू की ग्रुरुग्राम की ओर से शुरूआत में छह किमी का हिस्सा 60 मीटर चौड़ा होगा। वहीं इसके आगे रेवाड़ी तक इसकी चौड़ाई 45 मीटर होगी।

पटौदी में बनेगा टोल
इस नए फोरलेन हाइवे पर वाहन फर्राटा भरेंगे, लेकिन इसके लिए वाहन चालकों को जेब ढीली करनी पड़ेगी। बताया जाता है कि इस फोरलेन हाइवे पर वाहन चालकों से टोल वसूली के लिए टोल गेट पटौदी में बनाया जाएगा। पटौदी से यह हाइवे बाहर ही बाहर जाएगा और इसके लिए यहां पर सात किमी लंबा बाईपास बनाया जाएगा। इस हाइवे के बनने से दिल्ली-जयपुर हाइवे पर वाहनों का लोड कुछ कम होगा। अभी तक गुरुग्राम-रेवाड़ी का अधिकतर ट्रैफिक दिल्ली-जयपुर हाइवे पर ही रहता है। नए फोरलेन बनने से आवाजाही सुगम होगी और जाम की समस्या भी छूमंतर हो जाएगी।

बड़ी संख्या में होगी तोड़फोड़
इस हाइवे के निर्माण के रास्ते में कई जगह दुकान, आवास सहित कई निर्माण आएंगे। इसके लिए बड़े स्तर पर तोडफ़ोड़ होगी। एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर पीके कौशिक के अनुसार इस सफ्ताह निर्माण कार्य का काम शुरू हो सकता है। अभी लोग खुद ही तोडफ़ोड़ कर रहे हैं। वहीं जिन लोगों को तोडफ़ोड़ के लिए मशीन व संसाधन की आवश्यकता होगी वह मुहैया कराई जाएगी। चिन्हड़ अड्डे, खोड, मौजाबाद, मंढुलिया पर बड़ी संख्या में तोड़फोड़ होगी। 

No comments