ब्रेकिंग न्यूज़

इलेक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क (ईवीआईएन EVIN) ने कोविड महामारी के दौरान

इलेक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क (ईवीआईएन) एक नवीन तकनीकी समाधान है जिसका उद्देश्य देश भर में टीकाकरण आपूर्ति श्रृंखला प्रणालियों को मजबूत करना है। इसका कार्यान्वयन स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) के तहत किया जा रहा है। ईवीआईएन का लक्ष्य देश के सभी कोल्ड चेन पॉइंट्स पर वैक्सीन के भंडार तथा बाजार में उपलब्धता और भंडारण तापमान पर वास्तविक समय की जानकारी देना है। कोविड महामारी के दौरान जरूरी अनुकूलन के साथ आवश्यक प्रतिरक्षण सेवाओं की निरंतरता सुनिश्चित करने और हमारे बच्चों तथा गर्भवती माताओं को टीके से बचाव योग्य बीमारियों से बचाने के लिए इस मजबूत प्रणाली का उपयोग किया गया है।

ईवीआईएन देश भर में कई स्थानों पर रखे गए टीकों के स्टॉक और भंडारण तापमान की वास्तविक समय निगरानी करने में सक्षम करने के लिए अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी, एक मजबूत आईटी अवसंरचना और प्रशिक्षित मानव संसाधन को जोड़ती है।

फिलहाल ईवीआईएन 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (यूटी) तक पहुंच चुका है और जल्द ही शेष राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों- अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, चंडीगढ़, लद्दाख और सिक्किम में पहुंच जाएगा। वर्तमान में 22 राज्यों और 5 केन्द्र शासित प्रदेशों के 585 जिलों में 23,507 कोल्ड चेन पॉइंट्स नियमित रूप से कुशल वैक्सीन लॉजिस्टिक्स प्रबंधन के लिए ईवीआईएन तकनीक का उपयोग कर रहे हैं। ईवीआईएन का प्रशिक्षण देकर 41,420 से अधिक वैक्सीन कोल्ड चेन संचालकों को डिजिटल रिकॉर्ड कीपिंग से रू-ब-रू कराया गया है। भंडार में रखे गए टीकों की सटीक तापमान समीक्षा के लिए वैक्सीन कोल्ड चेन उपकरणों पर लगभग 23,900 इलेक्ट्रॉनिक टेम्पेरेचर लॉगर लगाए गए हैं।

इलेक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क से एक बड़ा डेटा आर्किटेक्चर बनाने में मदद मिली है, जो आंकड़ों के आधार पर निर्णय लेने और खपत आधारित योजना बनाने को प्रोत्साहित करने वाले क्रियात्मक विश्लेषण सृजित करता है जिससे कम लागत पर अधिक टीकों के भंडारण में मदद मिलती है। अधिकांश स्वास्थ्य केंद्रों पर हर वक्त टीके की उपलब्धता बढ़कर 99 प्रतिशत हो गई है। 99 प्रतिशत से अधिक की गतिविधि दर उन सभी स्वास्थ्य केंद्रों में प्रौद्योगिकी अपनाने पर उसकी उच्च क्षमता को दर्शाती है जहां वर्तमान में ईवीआईएन लागू हैं। जबकि स्टॉक में कमी को 80 प्रतिशत तक घटाई गई है, स्टॉक को फिर से भरने का समय भी औसतन आधे से अधिक घट गया है। इससे यह सुनिश्चित हो गया है कि टीकाकरण सत्र स्थल पर पहुंचने वाले प्रत्येक बच्चे का टीकाकरण किया जाता है, और टीकों की अनुपलब्धता के कारण उन्हें वापस नहीं भेजा जाता है।

कोविड-19 का मुकाबला करने में भारत सरकार के प्रयासों को मदद मुहैया कराने के लिए ईवीआईएन भारत राज्य / केन्द्र शासित प्रदेश सरकारों को कोविड प्रतिक्रिया सामग्री की आपूर्ति श्रृंखला की निगरानी करने में मदद कर रहा है। अप्रैल 2020 से आठ राज्य (त्रिपुरा, नगालैंड, मणिपुर, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, हरियाणा, पंजाब और महाराष्ट्र) खास राज्य को कोविड-19 सामग्री की आपूर्ति पर निगरानी रखने, उसकी उपलब्धता सुनिश्चित करने और 81 आवश्यक दवाओं तथा उपकरणों की कमी होने पर अलर्ट जारी करने के लिए 100 प्रतिशत पालन दर के साथ ईवीआईएन एप्लिकेशन का उपयोग कर रहे हैं।

इस मजबूत प्लेटफॉर्म में हर स्थिति में कोविड-19 वैक्सीन सहित किसी भी नए वैक्सीन के लिए फायदा उठाने की संभावना है।

No comments