ब्रेकिंग न्यूज़

पुन्हाना के गांव के 4 घरों में 2572 गायो की खाल बरामद,आखो में धूल झोंकने के लिए निकली हिन्दू-मुस्लिम एकता रैली।

मेवात में हिन्दू मुस्लिम एकता रैली के साथ साथ पुन्हाना के गांव में मिली 2572 गायो की खाल!

किसी भी अपराधी की कोई गिरफ्तारी नही!

प्रशासन की आखों में धूल झोंकने और नीचे-नीचे काले कारनामो को अंजाम देने के लिए निकाली हिन्दू-मुस्लिम एकता रैली!

हिन्दू उत्पीड़न की खबरे आने के और अधिकारियों के तबादले के बाद बड़ी कामयाबी!

नूंह : मेवात में हिन्दूओ पर हो हो रहेेे अत्याचार की खबरें  सुर्खियों में आने पर  सरकार और वहां के मौजूदा पुलिस प्रशासन पर  उंगलियां उठाई गई जिसके बाद  प्रशासनिक अधिकारियों के तबादले किए गए  इन तबादलों के बाद  प्रशासन द्वारा  एक बड़ी कार्यवाही दिखाई दी जिसमें  पुनहाना खंड के जमालगढ़ गांव में गौकशी-वाहन चोरी की वारदातों पर लगाम लगाने के लिए नूंह पुलिस ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। पुलिस ने जमालगढ़ गांव में सर्च ऑपरेशन चलाया  जो लगभग 10 घंटे चला  इस दौरान  पुलिस  के अधिकारियों ने  सीआईए और सैकड़ों जवान डीएसपी पुनहाना विवेक चौधरी यह नेतृत्व में  गांव को चारों तरफ से घेर लिया गया और सर्च ऑपरेशन किया गया। सर्च अभियान में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी। पुलिस को चार मकानों से 2572 गाय की खाल, 10-12 बाइक,  टाटा 407 बरामद की गई हैं। पुलिस वाहनों का रिकॉर्ड खंगाल रही है  और अंदेशा लगाया जा रहा है कि सभी वाहन चोरी किये गए हैं। खास बात यह रही कि करीब 10 घण्टे तक चले सर्च अभियान में एक भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी।
ये व्यक्ति पुलिस की मदद करनेेे के लिए खालो को गिन रहा है और फोटो दैनिक भास्कर से लिया गया है
उप मंडल पुन्हाना के डीएसपी विवेक चौधरी के नेतृत्व में गुप्तचर की सुचना पर एक टीम गठित की गई । गुप्तचर द्वारा सुचना प्राप्त हुई की निन्ना उर्फ निजाम, फारुख पुत्रान सलामु, हासीम पुत्र निन्ना उर्फ निजाम, दीनू, अल्ली पुत्रान अहमद हुसैन, आसीफ पुत्र बाबूदीन, निजाम पुत्र आसर, मुस्तकीन पुत्र इलियास, नियाजु पुत्र मम्मन निवासियान जमालगढ़ थाना पुन्हाना जो मिलकर गौकशी का कार्य करते हैं और गौकशी करने के बाद गाय मांस व खालों को दिल्ली व हापुड़ बेचते हैं। जिन्होंने गाय की खालों को अपने- अपने मकानों में बने गोदामों मे रख रहे हैं तथा आसिफ पुत्र बाबूदीन की गाङी टाटा 407 में गाय खालों को बेचने के लिये भर रहे हैं। पुलिस ने इसी सुचना पर गुप्तचर को साथ लेकर आसीफ उपरोक्त के मकान के नजदीक पहुंचकर देखा तो 9 शख्स टाटा 407 से गाय खालों को भर रहे थे, जो सरकारी गाड़ी व पुलिस कर्मचारियों को अपनी तरफ आते देखकर गाड़ी टाटा को खाल सहित मौका पर छोड़कर भाग लिए।
                      Advertisement

भागते हुए शख्सों को मुखबिर ने निन्ना उर्फ निजाम, फारुख पुत्रान सलामु, हासीम पुत्र निन्ना उर्फ निजाम, दीनू, अल्ली पुत्रान अहमद हुसैन, आसिफ पुत्र बाबूदीन, निजाम पुत्र आसर, मुस्तकीन पुत्र इलियास, नियाजु पुत्र मम्मन निवासियान जमालगढ थाना पुन्हाना शिनाख्त किया। गाड़ी टाटा 407 के पास आकर देखा तो गाड़ी के आगे नंबर आरजे 02 -जीए 9914 लिखा मिला और गाड़ी को चैक करने पर गाड़ी गाय खालों से भरी हुई मिली। जिनकी गिनती की तो 414 गाय खालें मिली। टाटा 407 व उसमें भरी हुई गाय खालों को बरामद करके कब्जा पुलिस में लिया तथा उसके पश्चात निजाम पुत्र आसर के मकान में बने गोदाम को रेड की तो गोदाम में 620 गाय खालें बरामद हुई। निन्ना उर्फ निजामु, फारुख, हासिम के मकान में कुल 1060, दीनू, अल्ली पुत्रान अहमद हुसैन, मुस्तकिम पुत्र इलियास , निजामु पुत्र मम्मन के गोदमा में कुल 478 गाय खालें मिली। गाय खालों को बरामद करके कब्जा पुलिस में लिया गया। इन सभी ठिकानों पर कुछ खालें ताजा गौकशी करके निकाली गई थी, जिनकी कुल गिनती 2572 थी।
हिन्दू मुस्लिम विवाद को देखते हुए हिन्दू मुस्लिम एकता रैली निकाल कर ज्ञापन भी दिया गया परंतु इलाके में चल रहे इस तरह के गोरख धंधों से साबित होता है कि रैली प्रशासन क।अधिकारियों की आखों में धूल झोंकने के लिए और अपने काले कारनामो को छुपाने के लिए है।

No comments