ब्रेकिंग न्यूज़

पटौदी में कर्फ्यू के दौरान भी अपराध पर नही लगाम, युवक की बेरहमी से हत्या

पटौदी में कर्फ्यू के दौरान भी अपराध पर नही लगाम, युवक की बेरहमी से हत्या

आरोप तीन दोस्तों ने ईंट-पत्थरों से सिर फोड़ा डाला

मृतक की पहचान बिजेंद्र उर्फ बादशाह के रूप में हुई

मृतक के पिता के बयान पर हुआ हत्या का मामला दर्ज



फतह सिंह उजाला
पटौदी।
 पुलिस अभी हेलीमंडी में दुकानदार युवक पर जानलेवा हमलावरों को अरेस्ट भी नहीं कर पाई है कि, बीती रात कर्फ्यू के दौरान पटौदी में युवक की बेरहमी से हत्या किया जाने का सनसनी खेज मामला सामने आया है। हत्या ईंट-पत्थरों से युवक के सिर को बेरहमी से फोड़कर की गई। मृतक की पहचान पटौदी के वार्ड 6 के निवासी बिजेंद्र उर्फ बादशाह 27 वर्ष पुत्र ज्ञानचंद पुत्र शिवलाल के रूप में की गई है। यह युवक मृत अवस्था में बुधवार सुबह पटौदी में ही मेजर मार्केट में श्रृंगार आटो वक्र्स के पास गली में पड़ा हुआ था, सुुबह के समय ही किसी व्यक्ति के द्वारा इसकी सूचना कंट्रोल रूम में दी गई। जैसे ही युवक की हत्या की बात फैली तो लोगों में भय का माहौल बन गया। युवक के सिर-खोपड़ी पर इतने ईंट-पत्थर मारे गए कि, मृमक का भेजा भी बाहर निकल गया। पटौदी थाना पुलिस ने मृतक के पिता ज्ञानचंद की शिकायत पर तीन नामदज आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर सीसीटीवी फुटेज के आधार पर अरेस्ट कर लिया है।

मृतक के पिता ज्ञानचंद के द्वारा दर्ज शिकायत के मुताबिक मंगलवार को वार्ड 4 का कुलदीप उर्फ चिकला पुत्र रमेश, वार्ड 10 का सतबीर पुत्र नफे सिंह और वार्ड 15 का दीपक पुत्र जसवंत तीनों, उसके पुत्र बिजेंद्र को बुलाकर अपने साथ ले गए थे। बुधवार सुबह मृतक युवक के बारे में जानकारी मिली तो मौके पर जाकर देखा तो मृतक जिसकी खोपड़ी ईंट पत्थरों से फोड़ी हुई थी, वह मृमक उनका सबसे बड़ा पुत्र बिजेंद्र था। शव को देखकर महसूस किया गया कि, तीनों ने मिलकर बहुत ही बेरहमी के साथ में हत्या की है। पटौदी थाना एसएचओ सुरेश कुमार के मुताबिक बिना देरी किये आसपास के सीसीटीवी की फुटेज को खंगाला गया, जिसमें तीन युवक साफ-साफ वारदात के आसपास के गली में दिखाई दे रहे है। सूत्रों के मुताबिक कथित रूप से तीनो ने अपना अपराध स्वीकार भी कर लिया है। इससे पहले सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस के सथ में सीन आॅफ क्राइम टीम भी मौके पर पहुंची तथा हत्या संबंधित तमाम साक्ष्य एकत्रित किये। सूत्रों के ही मुताबिक तीनो हत्यारोपियों के द्वारा वारदात के समय पहने कपड़ों पर भी खून के छीटें लगे मिले वहीं जहां हत्या की गई आसपास की दिवारों पर भी खून के निशान देखे गए।

पटौदी पुलिस ने बिजेद्र उर्फ बादशाह के हत्यारोपियों की पहचान पटौदी के वार्ड 4 का कुलदीप उर्फ चिकला पुत्र रमेश, वार्ड 10 का सतबीर पुत्र नफे सिंह और वार्ड 15 का दीपक पुत्र जसवंत के रूप् में की है। मृतक के पिता के मुताबिक बिजेंद्र  अपने परिवार में सबसे बड़ा लड़का था, उसके अलावा तीन लड़की तथा दो लड़के मृतक सहित है। सूत्रों एवं सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक घटना मंगलवार-बुधवार मध्यासत्री 12 बजे के आसपास की है। क्यो कि फुटेज में रात को सवा 12 बजे तीन युवक वारदात स्थल के आसपास की गली में साफ दिखाई दे रहे है। ऐसी भी चर्चा है कि बीती रात को इन चारों ने कहीं एकसाथ शराब पी है और इसी दौरान आपस में किसी बात को लेकर कहा सुनी होने के बाद में ही सबक सिखाने के इरादे र्से इंट-पत्थरों से सिर फोड़कर बेरहमी से हत्याकर दी गई। इस निर्मम हत्या के साथ ही अब सवाल भी उठने लगे है कि, पटौदी चैराहे पर ही पुलिस की नाकाबंदी रहती है और रात के समय सरकार के द्वारा कर्फ्यू भी लगाया हुआ है।


No comments