ब्रेकिंग न्यूज़

गुरुग्राम-अब कोरोना से आयुर्वेद के माध्यम से बचाने की तैयारी, आयुर्वेदिक दवाओं का किया वितरण

कोरोना वायरस से बचाव हेतु जिला में आयुर्वेदिक दवाओं का किया जा रहा है नियमित वितरण ।
- जिला में अब तक 31 हजार लोगों में वितरित की गई आयुर्वेदिक दवाएं ।
- कोरोना से बचाव के लिए शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूूत करना आवश्यक , आयुर्वेदिक दवाएं सिद्ध हो रही हैं कारगर ।
गुरुग्राम, 19 मई।
आयुष विभाग द्वारा जिला में बड़े स्तर पर लोगों के बीच आयुर्वेदिक दवाएं जैसे गिलोय घनवटी , संशमनी , वटी अणु तेल जैसी दवाओं को लोगों के बीच निशुल्क वितरित किया जा रहा है । अब तक जिला में 31 हजार लोगों को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं का वितरण किया जा चुका है।

इस बारे में जानकारी देते हुए जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ. मंजू बांगड़ ने बताया कि गत दिवस गुरुग्राम के शिवाजी पार्क, खांडसा मंडी में रह रहे लगभग 2 हजार लोगो को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए उन्हें जैसे गुडूची घनवटी , गिलोय घनवटी, संशमनी  वटी,  अणु तेल आदि आयुर्वेदिक दवाएं वितरित की गई।उन्होंने कहा कि आयुर्वेद का प्रयोजन ही व्यक्ति को स्वस्थ रखते हुए उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना है। इसी कड़ी में आयुष विभाग द्वारा प्रतिदिन बड़े स्तर पर लोगों को रोग प्रतिरोधक दवाई दी जा रही है ताकि वे कोरोना संक्रमण से बचे रहे। उन्होंने बताया कि जिला में बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक यह दवाई बिल्कुल निशुल्क पहुंचाई जा रही है।
BHANOT HOSPITAL

उन्होंने बताया कि जिला में आयुष विभाग की टीम द्वारा लोगों को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस समय पूरा विश्व कोविड-19 महामारी से जूझ रहा है। यह महामारी तेजी से देश में फैल रही है और इसे सिर्फ  अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर ही रोका जा सकता है।

No comments